maadhar का इस्तमाल करने से पहले इन बातो को जरूर जान ले

uidai ने कुछ दिन पहले maadhar नाम से एक अप्प लॉन्च किया था इस पोस्ट को पूरा पढ़ कर आप जान सकोगे की maadhar अप्प का इस्तमाल कैसे कर सकते है maadhar अप्प प्ले स्टोर पर फ्री में उपलब्ध है इस अप्प का इस्तमाल करने से पहले आपको इस अप्प के दिशा निर्देश समझने जरुरी है।

1. आपके आधार कार्ड में आपके मोबाइल नंबर लिंक होने जरुरी है नहीं तो आप इस अप्प का इस्तमाल नहीं कर सकोगे। 

2. इस अप्प को ओपन करते ही सबसे पहले आपसे पासवर्ड मांगे जायेगे तो आपका पासवर्ड काम से काम 8 characters का और ज्यादा से ज्यादा 12 characters का होना चाहिए जिसमे एक नंबर एक अल्फाबेट एक स्पेसले करेक्टर और एक कैपिटल अल्फाबेट होना चाहिए।


3. आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी कोड भेजा जायेगा जो मोबाइल नंबर आपके आधार कार्ड से लिंक है उसी मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जायेगा इसी लिए आपके आधार कार्ड से आपके मोबाइल नंबर लिंक होने जरुरी है। 


4. जिस मोबाइल में आपने maadhar को इंस्टॉल किया है उसी मोबाइल के अंदर आपके आधार कार्ड से लिंक किये हुए मोबाइल नंबर होने चाहिए क्योकि जो ओटीपी कोड आपके मोबाइल पर भेजा जाता है उस कोड को आप खुद से अप्प में नहीं डाल सकते हो वो कोड आपके मोबाइल से अप्प के द्वारा अपने आप लिया जाता है ये आपकी सुरक्षा के लिए है ताकि कोई आपके आधार कार्ड का गलत इस्तमाल ना कर सके। 


5. यदि आप भविष्य में कभी अपने फ़ोन से सिम निकलते हो या अपने maadhar अप्प को किसी दूसरे मोबाइल में एक्टिवेट करते हो तो आपके पहले वाले मोबाइल से वो ऑटोमेटिक डिएक्टिवेट या डिलीट हो जायेगा इस आप को आप एक बार में एक ही मोबाइल में इस्तमाल कर सकोगे।


6. यदि आपके परिवार के अन्य सदस्यों के आधार कार्ड से आपका ही मोबाइल नंबर लिंक है तो आप उनकी प्रोफाइल को अपने maadhar अप्प में जोड़ सकते हो। 


7. आप एक maadhar अप्प में ज्यादा से ज्यादा तीन प्रोफाइल ऐड कर सकते हो या जोड़ सकते हो वो तभी जब तीनो आधार कार्ड से एक ही मोबाइल नंबर लिंक हो। 


maadhar अप्प का इस्तमाल कैसे करना है और maadhar अप्प के बारे में और भी अच्छे से जानने के लिए निचे दिए गए वीडियो को देखे।



Comments

Popular posts from this blog

इस गर्मी की कोशिश करने के लिए आसान और सस्ती फैशन ट्रेंड्स

आपको छोटे व्यवसाय के लिए फेसबुक विज्ञापन शुरू करने से पहले आपको पता होना चाहिए

कैसे प्रौद्योगिकी हमें बेहतर नींद में मदद कर सकता है?